राम और लक्ष्मण दशरथ के बेटे दोनों बण खंड जाय
हेजी कोई राम मिलै भगवान
एक बण चाले दो बण चाले तीजे म लग आयी प्यास
हेजी कोई राम मिलै भगवान
छोटा सा छोरा गऊ चरावै पाणी तो प्याओ नंदलाल
हेजी कोई राम मिलै भगवान
ना आडै कुआँ ना आडै जोहड़ ना आडै सरवर ताल
हेजी कोई राम मिलै भगवान
हर के घर त उठी बदलिया बरस रही झडलाय
हेजी कोई राम मिलै भगवान

भर आए कुएँ भर आए जोहड़ भर आए सरवर ताल
हेजी कोई राम मिलै भगवान
भर क लौटा पाणी का लाया पियो तो श्री भगवान
हेजी कोई राम मिलै भगवान
तेरा पाणी हम जब पीवांगे नाम बताओ मायड़ बाप
हेजी कोई राम मिलै भगवान
पिता अपणे का नाम ना जाणु सीता स माहरी माँ
हेजी कोई राम मिलै भगवान

चल भाई लड़के उस नगरी म जित थारी सीता माँ
हेजी कोई राम मिलै भगवान
खड़ी खड़ी सीता केस सुखावै हरे रूख की छाँव
हेजी कोई राम मिलै भगवान
ढक ले री माता इन केसा न बहार खड़े श्री राम
हेजी कोई राम मिलै भगवान
उस माणस का मुखड़ा ना देखु जीवति न दिया वणवास
हेजी कोई राम मिलै भगवान

पाट गयी धरती समा गयी सीता खड़े लखावै श्री राम
हेजी कोई राम मिलै भगवान
भाज लुज क न चोटा पकड्या चोटें म हरी हरी डाभ
हेजी कोई राम मिलै भगवान
राम की माया राम ही जाणै भज ल्यो सीता राम
हेजी कोई राम मिलै भगवान

राम की माया राम ही जाणै भज ल्यो सीता राम
हेजी कोई राम मिलै भगवान
राम की माया राम ही जाणै भज ल्यो सीता राम
हेजी कोई राम मिलै भगवान
भज ल्यो सीता राम
हेजी कोई राम मिलै भगवान
भज ल्यो सीता राम
हेजी कोई राम मिलै भगवान

Leave a Reply