RELATED – हारे के सहारे आजा तेरा दास पुकारे आजा | Haare Ke Sahare Aaja Lyrics Hindi

राम नाम के हीरे मोती मै बिखराऊ गली गली लिरिक्स

var de var de veena vadini var de lyrics

वर दे वीणा वादिनि वर दे | Var De Veena Vadini Var De lyrics :->एक सिद्ध सरस्वती पुत्र जब अपनी मॉं से प्रार्थना करे तो उस शब्द-संयोजन का सौंदर्य स्वत: शतगुणित हो जाता है। शब्द-पूर्वज निराला कृत यह निराली सरस्वती वंदना तर्पण के रूप में वाणी के उस अक्खड़ अलबेले अवधूत सूर्यकांत त्रिपाठी निराला जी को सादर समर्पित है ! सुनें और सुनवायें ! वर दे वीणावादिनी वर दे|

वर दे वीणा वादिनि वर दे | Var De Veena Vadini Var De lyrics| dr kumar vishwas

वर दे, वीणावादिनि वर दे ।
प्रिय स्वतंत्र रव, अमृत मंत्र नव
भारत में भर दे ।
वीणावादिनि वर दे ॥
काट अंध उर के बंधन स्तर
बहा जननि ज्योतिर्मय निर्झर
कलुष भेद तम हर प्रकाश भर
जगमग जग कर दे ।
वर दे, वीणावादिनि वर दे ॥

नव गति, नव लय, ताल छंद नव
नवल कंठ, नव जलद मन्द्र रव
नव नभ के नव विहग वृंद को,
नव पर नव स्वर दे ।
वर दे, वीणावादिनि वर दे ॥

वर दे, वीणावादिनि वर दे।
प्रिय स्वतंत्र रव, अमृत मंत्र नव
भारत में भर दे ।
वीणावादिनि वर दे ॥

वर दे वीणावादिनि वर दे

Leave a Reply